देव डोलियों के मिलन के दौरान छलछला उठी श्रद्धालुओं की आंखें

0
135

गोपेश्वर
संतान दायिनी सती मां अनुसूया के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। मंडल में सती मां अनुसूया गेट पर अलग अलग गांवों से आई पांच बहिनों की देव डोलियों के मिलन के दौरान श्रद्धालुओं की आंखें छलछला उठी। इस मौके पर श्रद्धालुओं ने देव डोलियों की पूजा अर्चना कर मनौती मांगी। यहां से डोलियां अनुसूया मंदिर के लिए श्रद्धालुओं के जत्थे के पैदल ही चार किमी की दूरी तय कर अनुसूया मंदिर पहुंची। अनुसूया में संतान कामना के लिए 225 से अधिक दंपत्तियों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। ये दंपत्ति आज रातभर संतान कामना के लिए अनुसूया मंदिर में तप करेंगे।
प्रत्येक वर्ष दत्तात्रेय जयंती पर अनुसूया मेले का आयोजन होता है। दो दिवसीय अनुसूया मेले का उद्घाटन बदरीनाथ के विधायक महेंद्र भट्ट ने किया। उन्होंने मंडल स्थित अनुसूया पैदल मार्ग गेट पर रिबन काटकर मेले का शुभारंभ किया। इस मौके पर विधायक ने कहा कि अनुसूया मेला न केवल हमारी प्राचीन संस्कृति का द्योतक है बल्कि इससे लोगों का आपसी मेलजोल भी बढ़ता है। विधायक ने अनुसूया में यात्री विश्राम गृह निर्माण के लिए विधायक निधि से पांच लाख रुपए देने की घोषणा की। इसके अलावा इंटर कालेज बैरागना में कंप्यूटर खरीद के लिए दो लाख रुपए की घोषणा की गई। अनुसूया मंदिर तक निर्माणाधीन चार किमी मोटर मार्ग के रुके हुए कार्य को तत्काल शुरू करवाने का आश्वासन दिया। मंडल में कठूड़ की देवी, बणद्वारा की ज्वाल्पा, सगर की देवी, देवलधार की ज्वाल्पा देवी व खल्ला की मां अनुसूया की देव डोलियां मंडल अनुसूया गेट पर पहुंची तो बहिनों के मिलन के दौरान देव डोलियों के मिलन नृत्य से श्रद्धालुअों की आंखें छलछला उठी। सबसे पहले यहां पर देव डोलियों की पूजा अर्चना की गई। मेले में पहुंचे श्रद्धालुओं ने पांचों डोलियों की पूजा अर्चना कर मनौती मांगी। इस मौके पर देव नृत्य का आयोजन भी हुआ। भक्तों द्वारा दर्शन करने के बाद पांचों डोलियां अनुसूया मंदिर के लिए रवाना हुइü। इस मौके पर देवियों की डोलियों को विदा करते समय महिला श्रद्धालुअों की आंखें भी छलछला पड़ी। मंडल में इस दौरान मेले का जैसा माहौल रहा। लोगों ने मंडल पहुंचकर बाजार में जमकर खरीददारी भी की। अनुसूया मेले की शुरुआत के साथ ही सती मां अनुसूया मंदिर में भी मां के दर्शनों के लिए भक्तों का तांता लगा रहा। तकरीबन 225 बरोहियों ने पहले दिन संतान कामना के लिए मंदिर समिति में अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। इस मौके पर पूर्व प्रमुख भगत सिंह बिष्ट, मंदिर समिति के अध्यक्ष बीएस झिंक्वांण, पूर्व अध्यक्ष कुंवर सिंह नेगी समेत कई श्रद्धालु मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here