कठिन परिस्थितियों मे जीवन यापन करने वाले बच्चों का डेटाबेस

0
124

चमोली:  केन्द्र प्रायोजित समेकित बाल संरक्षण योजना (आईसीपीएस) के अन्तर्गत जिला स्तरीय सलाहकार बोर्ड की बैठक जिलाधिकारी आशीष जोशी की अध्यक्षता में जिला कार्यालय सभागार में संपन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने जिले के कठिन परिस्थितियों मे जीवन यापन करने वाले बच्चों का डेटाबेस तैयार करने तथा उनकी देखरेख के लिए समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश जिला समाज कल्याण अधिकारी को दिये।

जिलाधिकारी ने बाल संरक्षण के लिए आवश्यक सेवाओं का संस्थाकरण करके वर्तमान व्यवस्था को मजबूत करने तथा कठिन परिस्थितियों में रहने वाले बच्चों के लिए सांविधिक और सहायता सेवाऐं उपलब्ध कराने को कहा। जिससे ऐसे बच्चों के जीवन स्तर में मूलभूत सुधार लाया जा सके। उन्होंने ग्राम पंचायत स्तर पर बाल संरक्षण समितियों का गठन के जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिये कि 1 से 15 अक्टूबर तक चलने वाले ग्राम समृद्धि एवं स्वच्छता पखवाड के दौरान 15 अक्टूबर को आयोजित सभी ग्राम पंचातयतों की खुली बैठक में अनिवार्य रूप से ग्राम बाल सरंक्षण समिति का गठन करने तथा शिक्षा समिति चाइल्ड हेल्पलाइन के टाॅल फ्री नम्बर 1098 का सभी स्कूलों के नोटिस बोर्ड पर चस्पा कर व्यापक प्रचार प्रसार कराने के निर्देश मुख्य शिक्षा अधिकारी को दिये। उन्होंने सीईओ को सभी स्कूलों में टाॅल फ्री नम्बर की रेन्डमली जाॅच करने को भी कहा। उन्होंने कहा दूरदर्शन, केविल टीवी, एफएम रेडियों के माध्यम से भी चाइल्ड हेल्पलाइन नम्बर का प्रचार-प्रसार किया जाय, ताकि अधिक से अधिक लोगों को इसकी जानकारी हो और समय पर बाल अपराधों को रोका जा सके।

जिला समाज कल्याण अधिकारी ने अवगत कराया कि आईसीपीएस भारत सरकार की एक विस्तृत योजना है जिसका उदेश्य मुसीबत या कठिनाई की स्थितियों में पडे बच्चों के समग्र विकास के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य, मनोरंजन, खेलकूद के साथ ही उन्हें उचित संरक्षण व सुरक्षा मुहैया कराया जाना है। उन्होंने बताया कि जिले में वर्ष 2013-14 से चाइल्ड लाइन फाउंडेशन के सहयोग से हिमादि समिति द्वारा इस संबध में कार्य किया जा रहा है। हिमादि समिति सचिव प्रभा रावत ने अवगत कराया कि मुसीबत या कठिनाई की स्थितियों में बच्चों के संरक्षण के लिए 1098 चाइल्ड लाइन सेवा मौजूद है। वर्ष 2017-18 में 15 केस चिन्हित किये गये है, जिसमें स्वास्थ्य से जुडे 3, बाल श्रम/भीख मांगन के 03, यौन शौषण/उत्पीड़न के 1, स्पांन्सरशिप के 05, भावनात्मक सहयोग, विधि विवादित व लापता के एक-एक केस शामिल है।

इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य मनोज भण्डारी, पुलिस अधीक्षक तृप्ति भट्ट, प्रधान न्यायिक मजिस्ट्रेट हर्ष यादव, एसीएमओ डा0 पंकज जैन, मुख्य शिक्षा अधिकारी एलएम चमोली, जिला समाज कल्याण अधिकारी सुरेन्द्र लाल, बाल संरक्षण अधिकारी राजवर सिंह, डीपीआरओ बीएस दुग्ताल, हिमादि समिति से सीडब्लूसी की अध्यक्षा प्रभा रावत, आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here