ममेरा भाई ही निकला किशोरी का अपहरर्णकर्ता , नेपाल में था ठिकाना

0
573
DJL¦FFZ´FZäS ´F¼d»FÀF IYF¹FFÊ»F¹F ¸FZÔ ´FiZÀF d¶FidRÔY¦F IYS°Fe EÀF´Fe , ÀFF±F ¸FZÔ AFSFZ´Fe Ü ªFF¦FS¯F

गोपेश्वर
जिला मुख्यालय के पास एक गांव से कक्षा सात में पढ़ने वाली नाबालिक
किशोरी के बहुचर्चित अपरहण कांड में किशोरी का ही ममेरा भाई अपहरणकर्ता
निकला। पुलिस ने चंपावत जिले से लगे नेपाल सीमा से अपहरणकर्ता को
गिरफ्तार कर उसके ठिकाने से पीड़िता को बरामद किया है। एसपी तृप्ति भट्ट
ने पुलिस टीम को ढाइ्र हजार का नकद ईनाम देने की घोषणा की है।
गौरतलब है कि 28 नवंबर को गोपेश्वर के पास एक गांव से कक्षा सात में
पढ़ने वाली किशोरी लापता हो गई थी। किशोरी के लापता होने के मामले में
पुलिस ने गोपेश्वर थाने में मुकदमा दर्ज किया था। तब पुलिस की नाकामी पर
जनांदोलन भी हुआ था। लगातार दबिश के बाद भी किशोरी का कोई पता नहीं था।
पुलिस द्वारा उत्तराखंड सहित संभावित ठिकानों पर दबिशें भी दी गई तथा
गुमशुदगी के पोस्टर जगह जगह चिपकाए गए थे। जिससे पुलिस के आलाधिकारी भी
परेशान थे। पुलिस को सुराग लगा कि किशोरी का ममेरा भाई भी गायब है। एेसे
में पुलिस ने ममेरे भाई के परिजनों सहित रिश्तेदारों पर नजर रखी व मोबाइल
को सर्विलांस पर रखा गया तो पता चला कि नेपाल में किशोरी के होने की
संभावना जताई गई। पुलिस चंपावत से लगी नेपाल सीमा पर कई दिनों तक डेरा
डालकर रही। इस दौरान पुलिस के हाथ नवीन चंद पुत्र हरीश लाल निवासी ग्राम
रांगतोली थाना चमोली लग गया। पूछताछ के बाद निशानदेही पर किशोरी को भी
नेपाल बार्डर से बरामद कर लिया गया। आरोपी द्वारा बहला फुसलाकर भगा ले
जाने की बात पुलिस को बताई है। एसपी तृप्ति भट्ट ने कहा कि चैक पास्ट
थाना बनबसा चंपावत में आरोपी को गिरफ्तार किया गया।किशोरी की मेडिकल जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here