बर्फबारी से ठंड का उत्सव मना रहे हैं यात्री

0
180
DJL¶FQSXe³FF±F ²FF¸F ¸FZÔ ¶FRÊY¶FFSXe IYF ³FªFFSFÜ ªFF¦FS¯F

सीजन की पहली बर्फबारी मानों यात्रियों के लिए सौगात साबित हुई हो। बदरीनाथ धाम में यात्री ठंड का उत्सव मना रहे है। चमोली में पहली मानव बस्ती है बदरीनाथ जहां से बर्फबारी की शुरूआत हुई है ऐसे में इस शीतकाल में बर्फबारी को लेकर अच्छी उम्मीद जगी है। बर्फबारी से शीतकाल में पर्यटन व्यवसाय टिका होता है। चमोली जिले में मौसम ने करवट ली है। बदरीनाथ धाम में सीजन की पहली बर्फबारी होने से यात्री खासे खुश हैं। निचले स्थानों में सुबह हल्की बारिश के बाद मौसम साफ है।
बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने के एक दिन पहले बदरीनाथ धाम में बर्फ का आनंद यात्री उठा रहे हैं। रात्रि से हो रही बर्फबारी से बदरीनाथ धाम में ठंड भी बढ गई है।देवदर्शनी से बदरीनाथपुरी बर्फ की सफेद चादर से ढकी हुई है। नगर में लगभग तीन इंच से अधिक बर्फ जमी हुई है। बदरीनाथ धाम में कपाट बंद होने के उत्सव में शामिल होने के लिए एक हजार से अधिक यात्री पहुंच चुके हैं। ऐसे में यात्रियों को तीर्थाटन के साथ साथ ठंड का उत्सव मनाने का अवसर भी मिला है। यात्री पर्यटक बर्फ में खेलकर आनंदित हो रहे हैं। बदरीनाथ धाम में चोटियों पर तो अक्टूबर माह से बर्फबारी होने के चलते बर्फ जमी थी। लेकिन धाम में पहली बार बर्फबारी हुई है। बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के सीईओ बीडी सिंह ने कहा कि बर्फबारी से बदरीनाथ की दिव्यता और निखर गई है। यात्री बर्फबारी का नजारा देखकर खासे आनंदित हैं। उन्होंने कहा कि बर्फबारी से कपाट बंद होने की तैयारी पर कोई असर नहीं पड़ा हे। बल्कि इससे कपाट बंदी के उत्सव में शामिल होने के लिए यात्रियों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here