राष्ट्रीय लोजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ने अपने राष्ट्रीय महासचिव पर रिश्वत का आरोप लगया

राष्ट्रीय लोजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ने अपने राष्ट्रीय महासचिव पर रिश्वत का आरोप लगया

राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष राजवर्धन सिंह परमार ने अपनी ही पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया।

दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस के आवास के बाहर पत्रकारों से वार्ता करते हुए राजवर्धन सिंह परमार ने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एल्विस जोसेफ ने उन्हें फूड प्रोसेसिंग लैब और वाइन कमेटी में पद दिलाने के नाम पर दस लाख रुपये की मांग की।

राजवर्धन सिंह परमार ने कहा कि उपरोक्त बातें अगस्त महीने की 22 तारीख को हुई थी, 22 अगस्त को राजवर्धन सिंह परमार और एल्विस जोसेफ एक साथ दिल्ली से पटना गए हुए थे, पटना में पटना अतिथि गृह में दोनों लोग साथ रुके हुए थे, 24 अगस्त को दोनों लोग साथ दिल्ली वापस आए और 24 अगस्त की शाम को ही राजवर्धन सिंह परमार ने एल्विस जोसेफ को दस लाख रुपये नगद दिए।

कुछ दिनों के पश्चात जब राजवर्धन सिंह परमार ने  खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय में इस कमेटी के बारे में जब पता किया कि यह बात पूरी तरीके से निराधार निकली इसके पश्चात राजवर्धन सिंह परमार ने एल्विस जो सबसे अपने पैसे की मांग की एल्बम जोसेफ  पहले पैसे देने के लिए आनाकानी की इसके बाद राजवर्धन सिंह परमार लगातार अपने पैसे के लिए एलविस जोसेफ पर दबाव बनाते रहे।

राजवर्धन सिंह परमार ने आगे कहा कि आज 7 अक्टूबर गुरुवार को एक बार पुनः मैने एल्विस जोसेफ से अपने पैसे की मांग की, जिसके पश्चात एलिमिस जो सपने उन्हें जान से मारने की धमकी दी।

राजवर्धन सिंह परमार का कहना है कि अब वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस से मिलकर दोषी के विरुद्ध कार्यवाही के साथ अपने पैसे की वापसी कराने की मांग करेंगे।