सतलुज जेएनवी पॉवर स्टेशन ने एक महीने में सबसे अधिक बिजली पैदा करने का रिकॉर्ड बनाया

सतलुज जेएनवी पॉवर स्टेशन ने एक महीने में सबसे अधिक बिजली पैदा करने का रिकॉर्ड बनाया

सतलुज जल विद्युत निगम (एसजेवीएन) के नापथा झाकरी हाइड्रो पॉवर स्टेशन ने एक महीने के हिसाब से सबसे ज्यादा बिजली पैदा करने का रिकॉर्ड बनाया है। इस बार 31 जुलाई, 2021 तक 1216.56 मिलियन यूनिट बिजली पैदा करके उसने 212.10 मिलियन यूनिट के पिछले रिकॉर्ड को पार कर लिया।

इसी तरह रामपुर हाइड्रो पॉवर स्टेशन ने भी जुलाई 2021 में 334.90 मिलियन यूनिट बिजली पैदा करके जुलाई 2020 के पिछले 333.69 मिलियन यूनिट के रिकॉर्ड को पार कर लिया।

1500 मेगावॉट वाली नापथा झाकरी को 6612 मिलियन यूनिट और 412 मेगावॉट वाले रामपुर एचपीएस को 1878 मिलियन यूनिट बिजली पैदा करने की क्षमता के मद्देनजर डिजाइन किया गया है, जबकि इन पॉवर स्टेशनों ने क्रमशः 7445 मिलियन यूनिट और 2098 मिलियन यूनिट बिजली पैदा की है।

एसजेवीएन ने 1988 में एकल हाइड्रो परियोजना के रूप में काम करना शुरू किया था। इस कंपनी की निर्धारित क्षमता 9000 मेगावॉट की है, जिसमें से 2016.5 मेगावॉट का परिचालन हो रहा है और 3156 मेगावॉट निर्माणाधीन है। इसके अलावा 4046 मेगावॉट की तैयारी चल रही है। आज एसजेवीएन की मौजूदगी देश के नौ राज्यों में है। दो अन्य देशों में भी उसकी उपस्थिति है। कंपनी ने बिजली उत्पादन और पारेषण के अन्य क्षेत्रों में भी कदम बढ़ा दिये हैं। अपनी निर्धारित क्षमता के हवाले से एसजीवीएन का 2023 तक 5000 मेगावॉट, वर्ष 2030 तक 12000 मेगावॉट और 2040 तक 25000 मेगावॉट बिजली उत्पादन का लक्ष्य है। PIB